Thursday, December 8, 2022
Home उत्तराखंड अल्मोड़ा उत्तराखंड खटीमा कांड - क्या खोया क्या पाया ?

उत्तराखंड खटीमा कांड – क्या खोया क्या पाया ?

आज हम जिस उत्तराखंड राज्य में रह रहे हैं। क्या हम उसमें उस तरह से रह पा रहे हैं, जिस तरह उत्तराखंड आंदोलन के दौरान आंदोलनकारियों ने सपना देखा था..? क्या हम वो चीजें हासिल कर पाए, जिनके लिए हमारे वीर माताओं भाइयों ने शहादत दे दी थी ? जो अलग राज्य के  अरमान संजोए थे…?

क्या आज हम पहाड़ और पहाड़ियों को समृद्ध और खुशहाल देख पा रहे हैं…? क्या हम खुद को अपने घरों में सुरक्षित महसूस कर पा रहे हैं…? क्या पलायन और स्वास्थ्य शिक्षा मिल पा रही है बेशक जवाब निराशाजनक है …. अनगिनत कुर्बानियों का क्या सिला मिला ?

हम हर साल आंदोलनकारियों को उनकी कुर्बानियों के लिए याद करते हैं। पर क्या से सही मायने में श्रद्धांजलि होगी कि हम उनकी स्मृति में बने स्मारकों पर पूरे साल लगी धूल को साल में एक बार झाड़-फूंक कर हटा देते हैं। उनके लिए सही श्रद्धांजलि उनके सपनों का उत्तराखंड ही हो सकता है।

समृद्ध, संपन्न हौर खुशहाल उत्तराखंड। जिसे हम राज्य बनने के बाद अब तक सही मायने में हासिल नहीं कर पाए हैं। आज राज्य के लिए कुर्बानी देने वाले खटीमा गोलकांड के शहीदों को याद करने का दिन है। आज है राज्य आंदोलन का वो काला मनहूस दिन क्यूंकि इसके अलगे दिन मसूरी गोली कांड भी हुआ था। यानि 1 और 2 सितंबर 1994 को लगातार दो गोलीकांडों ने पूरे पहाड़ को झकजोर कर रख दिया था।

 1 सितंबर 1994 का दिन आज भी हर उत्तराखंडी को याद है। लोग उस काले दिन को भुलाने के बाद भी नहीं भूल पाते। पुलिस तांडव में हिन्दू भी शहीद हुए मुस्लिम भी शहीद हुए …. सात आंदोलनकारी भवान सिंह सिरौला, गोपी चंद, धर्मानंद भट्ट, प्रताप सिंह मनौला, परमजीत, सलीम, रामपाल की कहानियां पहाड़ में अम्र हो गयीं ….. इस घटना में सैकड़ों आंदोलनकारी घायल हुए।थे  खटीमा गोलीकांड के बाद राज्य आंदोलन पूरे प्रदेश में आग की तरह भड़क उठा।

खटीमा गोलीकांड इतना विभत्स था कि देखने वालों की रुह कांप गई। उसकी विभत्सा को सुनकर आज भी लोग सिहर उठते हैं। आज अफ़सोस कि उस घटना को खानापूर्ती की खातिर याद कर लेने भर का सियासी ड्रामा किया जा रहा है और शहीदों को भुलाकर सियासत की मलाई काटने में नेता मशगूल हैं मदमस्त हैं ये पहाड़ के शहीदों का अपमान है जिसका हर नौजवान हर महिला और हर बुजुर्ग आंदोलनकारी सख्त विरोध कर रहा है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Himachal Election Result : पीएम मोदी ने जिस बागी नेता को हिमाचल में पर्चा वापस लेने को कहा, उस सीट का क्या रहा नतीजा

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस को जीत मिली है, लेकिन आज जैसे ही मतगणना शुरू हुई सबकी नजरें हिमाचल की फतेहपुर सीट पर टिक गईं।...

मंत्री विदेश दौरे पर थे और निजी सचिव ने फाइल पर मंत्री के फर्जी साइन कर डाले, अब दर्ज हुआ मुकदमा

लोक निर्माण मंत्री सतपाल महाराज के फर्जी डिजीटल हस्ताक्षर कर मंत्री के निजी सचिव ने ही अयाज अहमद को विभागाध्यक्ष बनाने का अनुमोदन कर...

गुजरात, हिमाचल में मतगणना जारी, हिमाचल में कांग्रेस 40 सीटों पर आगे, गुजरात में भाजपा 153 सीट पर आगे, जानिए अपडेट

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव के लिए वोटों की गिनती जारी है। काउंटिंग सुबह 8 बजे से जारी है। इसके अलावा...

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु का उत्तराखंड दौरा आज, शाम 4 बजे पहुंचेंगी देहरादून

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु उत्तराखंड के अपने पहले दो दिवसीय दौरे पर आज देहरादून पहुंचेंगी। पहले दिन राष्ट्रपति प्रदेश सरकार की 2000 करोड़ की नौ...

Uttarakhand weather update : उत्तराखंड में नौ से 11 दिसंबर के बीच मौसम शुष्क रहने की संभावना

देशभर में ठंड असर दिखाने लगी है। खासकर सुबह-शाम पारा लुढ़क रहा है। नौ से 11 दिसंबर के बीच उत्तराखंड में मौसम शुष्क रहने...

सरकार की ब्याज मुक्त ऋण योजना के साथ शुरू करें रोजगार, स्वरोजगार का सुनहरा मौका

अगर आप नया व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं, तो स्वरोजगार से जुड़ते हुए ब्याज मुक्त ऋण लेकर पोल्ट्री फार्म शुरू कर सकते हैं। राज्य...

दो दिवसीय दौरे पर कल देहरादून पहुंचेंगी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु कल शाम दो दिवसीय दौरे पर देहरादून पहुंचेंगी। उत्तराखंड के दो दिवसीय दौरे के दौरान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु को उत्तराखंड की...

दिल्ली में चल गई झाडू, आम आदमी पार्टी की मिली जीत, जश्न में डूबे आप कार्यकर्ता

दिल्ली- दिल्ली एमसीडी चुनाव में आम आदमी पार्टी ने बहुमत हासिल कर लिया है। आप ने अब तक 126 सीटों पर जीत दर्ज कर...

आरबीआई ने फिर बढ़ाया रेपो रेट, मंहगा होगा लोन और ईएमआई

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की ओर से बुधवार को मौद्रिक नीति समिति (Monetary Policy Committee- MPC) के फैसलों का एलान किया गया है।...

पार्किंग के लिये टनल बनाएगी उत्तराखंड सरकार, टूरिस्ट प्लेस को लेकर प्लान तैयार

उत्तराखंड में पहाडों में पार्किंग एक बड़ी समस्या है. खासकर टूरिस्ट सीजन में मसूरी, नैनीताल, उत्तरकाशी जैसे शहरों में टूरिस्ट के साथ ही आम...