Tuesday, July 23, 2024
राष्ट्रीय

सोशल मीडिया का घरेलू प्लेटफॉम कू हुआ बंद, ट्यूटर को टक्कर देने के मकसद से किया गया था खड़ा

सोशल मीडिया का भारतीय घरेलू प्लेटफॉर्म कू बंद किया जा रहा है। घोर वित्तीय संकट के चलते इसके संस्थापकों को इसे बंद करने पर मजबूर होना पड़ा है।
कू के सह-संस्थापक अप्रमेय राधाकृष्ण और मयंक बिदाव तका ने कू को बंद करने की घोषणा की है, और कहा है कि हम ’छोटी पीली चिड़िया’ को अंतिम विदाई दे रहे हैं, और कू बंद किया जा रहा है। पीली चिड़िया कू का लोगो है।
आपको बता दें कि कू ट्यूटर जैसे सोशल मीडिया के दिग्गज प्लेटफॉर्म को टक्कर देने के लिये भारतीय वर्जन के तौर पर खड़ा किया गया था। भारत में इसकी लोकप्रियता 2021 के आसपास तब बढ़ी जब ट्विटर के साथ भारत सरकार का विवाद चला था। उस समय न केवल पीएम मोदी ने मन की बात में देश की जनता से कू पर आने की अपील की, बल्कि कई केंद्रीय मंत्रियों, राजनेताओं और सरकारी विभागों ने भी कू पर अपने अकाउंट खोले थे।
मगर इसके बाद कू का डाउन फॉल शुरू हुआ और ऐसा हुआ कि इसके संस्थापक पाई पाई के लिये मोहताज हो गये। और अब आखिरकार कू को बंद करने का फैसला लिया गया है। हालात ऐसे हैं कि कू को खरीदने वाला तक कोई नहीं मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *